Sunday, July 21, 2024
HomeSports Newsव्हीलचेयर क्रिकेट: पंजाब ने टी10 नेशनल चैम्पियनशिप जीती

व्हीलचेयर क्रिकेट: पंजाब ने टी10 नेशनल चैम्पियनशिप जीती

मोहाली (हरजिंदर सिंह, सोनू) । वीर सिंह संधू की कप्तानी वाली पंजाब व्हीलचेयर क्रिकेट टीम ने हाल ही में उत्तर प्रदेश को हराकर ग्वालियर में श्रीमंत माधवराव सिंधिया मेमोरियल टी 10 नेशनल चैंपियनशिप जीती। टूर्नामेंट में कुल आठ टीमों ने हिस्सा लिया था। पंजाब 27 रन से जीता । रोहित अनोत्रा की 25 गेंदों पर 50 रनों की विस्फोटक पारी ने पंजाब को 92 रनों के स्कोर तक पहुंचाया। बाद में पंजाब के गेंदबाजों ने शानदार प्रदर्शन करते हुए यूपी को 10 ओवर में 5 विकेट के नुकसान पर 65 रन पर रोक दिया। पंजाब की ओर से खेले गए 5 मैचों में से 2 में रोहित अनोत्रा को मैन ऑफ द मैच का पुरस्कार मिला और 2 मैचों में कप्तान वीर सिंह संधू को मैन ऑफ द मैच घोषित किया गया। संधू को टूर्नामेंट के बेस्ट फील्डर का पुरस्कार भी दिया गया।
संधू और अनोत्रा दोनों ने पैराप्लेजिक रिहैबिलिटेशन सेंटर (पीआरसी) में कहा कि यहां रहने वाले कुछ लोग पंजाब टीम का भी हिस्सा थे। संधू ने कहा कि टी10 नेशनल चैंपियनशिप में मेरे और रोहित के प्रदर्शन की बदौलत हम दोनों को ग्रेटर नोएडा में एपीएल अपोलो व्हीलचेयर क्रिकेट टी20 सीरीज में श्रीलंका के खिलाफ खेलने वाली भारतीय टीम में चुना गया।” दरअसल पीआरसी के कुबेर सिंह, मोहम्मद लतीफ, रविंदर भंडारी और रंजीत कुमार पंजाब टीम का हिस्सा थे।
उल्लेखनीय है कि पीआरसी के सिपाही कुबेर सिंह रिजर्व के रूप में भारतीय टीम का हिस्सा थे। संधू ने कहा कि यह गर्व का क्षण था कि न केवल मुझे श्रीलंका के खिलाफ भारतीय टीम में चुना गया, बल्कि उप-कप्तान भी बनाया गया। गौरतलब है कि टीम इंडिया के विकेटकीपर और उप-कप्तान के रूप में चुने गए वीर सिंह संधू ने रोहित अनोत्रा के साथ मिलकर पूरी सीरीज में बेहतरीन प्रदर्शन किया। रोहित अनोत्रा ने दूसरे मैच में मैन ऑफ द मैच का पुरस्कार जीता और वीर सिंह संधू ने अपनी शानदार विकेटकीपिंग स्किल्स से सभी को प्रभावित किया। रोहित अनोत्रा ने कहा कि मुझे खुशी है कि भारत ने टी-20 भारत-श्रीलंका सीरीज में दबदबा बनाया और सभी पांच मैच जीतकर श्रीलंका पर 5-0 की जीत हासिल की। संधू ने आगे कहा कि जहां तक राष्ट्रीय चैंपियनशिप का सवाल है, यह पिछले तीन सालों में पंजाब की दूसरी जीत थी। हालांकि, हमारी सफलता के बावजूद, पंजाब की टीम को वित्तीय सहायता की सख्त जरूरत है।
अनोत्रा ने कहा कि हम तभी खेलना जारी रख सकते हैं, जब कोई कॉरपोरेट या राज्य सरकार हमारे समर्थन में आए और हमें वित्तीय मदद करे।
शर्मिता भिंडर, फाउंडर, एम्पावर एनजीओ जो व्हीलचेयर क्रिकेटरों की हर संभव मदद कर रही है, ने केंद्र द्वारा प्रदान किए गए समर्थन के लिए पीआरसी की सराहना की। उन्होंने कहा कि कर्नल (सेवानिर्वित)गुरकीरत सिंह नागरा के निर्देशन में पीआरसी मोहाली ने टीम की तैयारी में महत्वपूर्ण सहयोग किया। उनका मार्गदर्शन और पूरे पीआरसी परिवार के प्रयास टीम की सफलता के लिए महत्वपूर्ण थे। गौरतलब है कि पीआरसी मोहाली ने पंजाब व्हीलचेयर क्रिकेट टीम को लगभग एक महीने तक मैदान, आवास, भोजन, परिवहन और अन्य प्रशासनिक सहायता जैसी सुविधाएं प्रदान की।

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -
Google search engine

Most Popular

Recent Comments