Sunday, July 21, 2024
HomeNewsयुवा अपनी ऊर्जा और विचारों के दम पर अपने आप में टेक्नो...

युवा अपनी ऊर्जा और विचारों के दम पर अपने आप में टेक्नो एंटरप्रेन्योर बनने की क्षमता रखें: प्रोफेसर आशुतोष शर्मा

चंडीगढ़ (हरजिंदर सिंह, सोनू) । देश में शोध और इंटरप्रीन्योरशिप का चलन लगातार बढ़ रहा है। आईसर जैसे संस्थान के मजबूत शिक्षण और शोध छात्रों में इनोवेशन और इंटोप्रीन्योरशिप को आगे बढ़ाने में बल दे रहे हैं। इस दिशा डीएसटी के निधि प्रोग्राम और नीति आयोग के एआईएम प्री इन्क्यूबेशन से लेकर मार्केट स्टेज की पूरी श्रृंख्ला को मजबूती दे रहे हैं। युवा वैज्ञानिक बाद में नही, बल्कि अभी ही अपने आप में टेक्नो इंटरप्रीन्योर बनने की क्षमता रखे जब आपके पास व्यापक उर्जा, विचारों का भंडारण और कम पारिवारिक जिम्मेवारियां हैं। यह आह्वान मोहाली स्थित नेशनल इंस्टीच्यूट आफ साइंस एजुकेशन एंड रिसर्च आईआईएसईआर की 13वीं कोनवोकेशन में वर्चुअल माध्यम से उपस्थिति इंडियन नेशनल साइंस एकेडमी के अध्यक्ष और भारत सरकार के साइंस और तकनीकी विभाग के पूर्व सचिव आशुतोष शर्मा ने किया। कॉनवोकेशन की अध्यक्षता संस्थान के बोर्ड ऑफ गवर्नर्स के चेयरपर्सन डॉ जेएस यादव ने की। दीक्षांत समारोह के दौरान कुल 291 युवा वैज्ञानिकों को डिग्रियां प्राप्त हुई। समारोह के दौरान संस्थान के निदेशक प्रोफेसर अनिल कुमार त्रिपाठी ने रजिस्ट्रार प्रोफेसर जगदीप सिंह की मौजूदगी में संस्थान की वार्षिक रिपोर्ट पेश की जिसमें फैकल्टी, स्टूडेंट्स और संस्थान की उपलब्धियों को उजागर किया गया। दीक्षांत समारोह के दौरान 168 बीएस-एमएस, चार एमएस, नौ बीएस और 110 पीएचडी डिग्री धारकों को फिजिक्स, केमिस्ट्री, बायोलॉजी, मैथमेटिक्स, अर्थ, एनवायरमेंट साइंसिस, ह्यूमैनिटी और सोशल साइंस विषयों में सम्मानित किया गया। बीएस-एमएस स्टूडेंट्स में से जेम्स वाट्स को बेस्ट ऐकेडमिक परफोरमेंस के लिए प्रेजिडेंट गोल्ड मेडल से सम्मानित किया गया जबकि प्राज्कता तानाजी माने को आटो फिजिक्स के लिये प्रोफेसर एसएन कौल मेडल से पुरस्कृत किया गया। आकांक्षा सिंह को बायोलॉजी, रिशब पांडा को कैमेस्टी, रुपकथा चंद को मैथ्स और जेम्स वाट्स को फिजिक्स में एकेडमिक एक्सीलेंस पुरस्कारों से सम्मानित किया गया। इस दौरान लगभग 400 कमरों का एक हॉस्टल का भी उद्घाटन किया।
आईआईएसईआर मोहाली एनआईआरएफ रैंकिंग में देश भर में 51वां स्थान रखता है। गत 17 वर्षो में इस संस्थान ने विज्ञान के कार्यक्षेत्र में नये आयाम स्थापित किये है जबकि यहां से दीक्षा प्राप्त स्टूडेंट्स ऑक्सफोर्ड, एमआईटी, कोर्नेल, स्टेनफोर्ड, कालटेक, टीआईएफआर, एनसीबीएस, आदि विश्व के प्रतिष्ठित संस्थान में ख्याति अर्जित की है।

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -
Google search engine

Most Popular

Recent Comments