Sunday, July 21, 2024
HomeNewsबच्चों को उनकी परवरिश के दौरान महिलाओं के प्रति सभ्य व्यवहार सिखाना...

बच्चों को उनकी परवरिश के दौरान महिलाओं के प्रति सभ्य व्यवहार सिखाना चाहिए, ताकि वे दूसरों की मां,बहनों का अपनी मां और बहन की तरह सम्मान करें: जसजोत सिंह अलमस्त

चंडीगढ़ (संवाद टाइम्स )। फायर एंड सिक्योरिटी एसोसिएशन ऑफ इंडिया चंडीगढ़ चैप्टर की ओर से सामुदायिक केंद्र सेक्टर – 27बी में ‘महिला सुरक्षा पर एक वार्ता’ आयोजित की गई। यह वार्ता सीनियर सिटीजन एसोसिएशन सेक्टर -27 चंडीगढ़ के सहयोग से आयोजित की गई थी । इस अवसर पर इंस्पेक्टर इरम रिजवी, एडमिन ट्रैफिक मुख्य वक्ता थीं। उन्होंने कहा कि हालांकि चंडीगढ़ पुलिस बहुत कुशल और उत्तरदायी है, लेकिन महिलाओं को विशेष रूप से अपना ख्याल रखना चाहिए। उन्होंने आगे कहा कि हर पीसीआर वाहन इस तरह से तैनात है कि मदद बहुत कम मिनटों में कॉल करने वाले तक पहुंच जाती है, फिर भी हमें बाहर निकलते समय हर समय सतर्क रहना चाहिए। महिलाओं को समाज और परिवार में सम्मान दिया जाना चाहिए। एफएसएआई चंडीगढ़ चैप्टर के अध्यक्ष जसजोत सिंह अलमस्त ने कहा कि महिलाओं को अपने बच्चों को उनकी परवरिश के दौरान महिलाओं के प्रति सभ्य व्यवहार सिखाना चाहिए, ताकि वे दूसरों की मां, बहनों का अपनी मां और बहन की तरह सम्मान करें। महिलाओं को सशक्त बनाने की दृष्टि के साथ-साथ समाज को भी इस तरह अपनी दृष्टि बनानी होगी ।
इस अवसर पर आर्किटेक्ट सुरिंदर बाहगा, चेयरमैन स्टूडेंट चैप्टर एफएसएआई मुख्य अतिथि थे। उन्होंने समाज की विभिन्न बुराइयों पर सेमिनार आयोजित करने के लिए हमेशा तत्पर रहने वाली सीनियर सिटीजन एसोसिएशन की अध्यक्षा लवलीन कौर और आरडब्ल्यूए सेक्टर 27 चंडीगढ़ की अध्यक्षा शिखा निझावन के प्रयासों की सराहना की। चंडीगढ़ सीनियर सिटीजन एसोसिएशन की प्रोजेक्ट सचिव अर्चना सूद, चितकारा स्कूल ऑफ मैरीटाइम स्टडीज के फैकल्टी जसजीत सूरी, एफएसएआई चंडीगढ़ चैप्टर की सचिव गुरसिमरन कौर और सीनियर सिटीजन एसोसिएशन के महासचिव दलजीत सिंह विशेष रूप से उपस्थित थे।

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -
Google search engine

Most Popular

Recent Comments