Sunday, July 21, 2024
HomeNewsIndiaपंजाब और हरियाणा के किसानों के लिए क्षेमा का तोहफा - सुकृति

पंजाब और हरियाणा के किसानों के लिए क्षेमा का तोहफा – सुकृति

चंडीगढ़ (संवाद टाइम्स)। इस खरीफ सीज़न में फसलों को सुरक्षित करने के लिए क्षेमा जनरल इंश्योरेंस लिमिटेड ने पंजाब और हरियाणा में ‘प्रकृति’ के साथ अपने प्रमुख फसल बीमा उत्पाद ‘सुकृति’ की उपलब्धता की घोषणा की है। इन योजनाओं की सहायता से इन दो राज्यों में किसानों को 100 से अधिक फसलों को सुरक्षित करने की सुविधा मिलेगी। सुकृति मात्र 499 रुपए प्रति एकड़ की शुरुआती कीमत पर उपलब्ध है।
पंजाब और हरियाणा के किसानों को फसल उत्पादन में कई तरह की चुनौतियों का सामना करना पड़ता है। प्रकृति का प्रकोप इनमें से एक है। अति मौसमी घटनाएं प्रबल होती जा रही हैं और बढ़ती जा रही हैं। किसानों पर इसका प्रतिकूल प्रभाव पड़ रहा है और साथ ही फसलों को भारी मात्रा में नुकसान पहुँच रहा है, जिससे उनकीआय की क्षति होती है।
लेकिन, किसान इस खरीफ सीज़न में सुकृति के साथ अपनी आय सुरक्षित कर सकते हैं। क्षेमा सुकृति अपनी तरह का पहला फसल बीमा उत्पाद है। यह किसानों को अद्वितीय सुविधाएं प्रदान करता है, जिसमें स्वनिर्धारण एक है। यह चयन जलवायु, क्षेत्र, खेत के स्थान और ऐतिहासिक पैटर्न के आधार पर किया जा सकता है। उदाहरण के लिए, पंजाब और हरियाणा में किसान ओलावृष्टि और जानवरों के हमलों के खिलाफ अपनी फसलों का बीमा कराने का विकल्प चुन सकते हैं, जो इन राज्यों में बेहद आम हैं। हालाँकि, पड़ोसी राज्य हिमाचल प्रदेश में किसान अपनी फसलों को भूस्खलन से बचाने का विकल्प चुन सकते हैं।
सीवी कुमार, चीफ अंडरराइटिंग ऑफिसर, क्षेमा जनरल इंश्योरेंस लिमिटेड, ने कहा कि हम उन चुनौतियों को गहन रूप से समझते हैं, जिनका सामना अक्सर किसानों को करना पड़ता है। मुझे यह बताते हुए खुशी हो रही है कि सुकृति को डिज़ाइन करते समय हमने उन बारीक से बारीक कारकों पर विचार किया, जो उनकी बीमा संबंधी सभी जरूरतों को पूरा करते हैं। हमारी सुकृति योजना का उद्देश्य किसानों को उनकी आय में होने वाली क्षति से बचाने में मदद करना है। यह बीमा किफायती और अनुकूलन योग्य है। इस वजह से किसान सुकृति को अपनी ज़रूरत और इच्छा के हिसाब से बना सकता है। इसमें किसानों को अतिरिक्त प्रीमियम का भुगतान करके अपनी बीमित राशि बढ़ाने का विकल्प भी मिलता है। इसके अतिरिक्त, हमने किसानों के लिए सुकृति खरीदने और दावा प्रस्तुत करने की प्रक्रिया को भी सुव्यवस्थित कर दिया है, जिससे यह अधिक सुलभ बन गई है।
करमबीर सिंह राय, चीफ ग्रोथ ऑफिसर, क्षेमा जनरल इंश्योरेंस लिमिटेड, ने कहा कि किसान गूगल प्लेस्टोर से क्षेमा ऐप डाउनलोड कर सकता है और कुछ आसान चरणों का पालन करके सुकृति खरीद सकता है। यह ऐप किसान को अपनी फसल और गाँव का चयन करने, अपने खेत को जियो टैग करने, प्रीमियम राशि और बीमा राशि की जाँच करने, और खरीद प्रक्रिया को पूरा करने के लिए केवाईसी सत्यापन की सुविधा प्रदान करती है। किसानों की सहायता करने के उद्देश्य से क्षेमा ने पॉइंट ऑफ सेल पर्सन नियुक्त किए हैं। किसान अपनी फसलों को खतरों से बचाने के लिए समर्पित हेल्पलाइन नंबर पर भी कॉल कर सकता है और सुकृति खरीदने के लिए पीओएसपी के साथ व्यक्तिगत रूप से भेंट भी कर सकता है।
नौ खतरों में चक्रवात, बाढ़, जलभराव (जलप्रिय फसलों के लिए लागू नहीं), ओलावृष्टि, भूकंप, भूस्खलन, बिजली गिरने से लगी आग, जानवरों के हमले (बंदर, खरगोश, जंगली सुअर और हाथी) और विमान से होने वाली क्षति शामिल हैं।
पंजाब और हरियाणा के अलावा सुकृति अब राजस्थान, हिमाचल प्रदेश, उत्तर प्रदेश, मध्य प्रदेश, महाराष्ट्र, उत्तराखंड, सिक्किम, मेघालय, असम, अरुणाचल प्रदेश, मणिपुर, मिजोरम, नागालैंड, त्रिपुरा, आंध्र प्रदेश, तेलंगाना, कर्नाटक, तमिलनाडु, और केंद्र शासित प्रदेश – पुदुचेरी और अंडमान और निकोबार द्वीप समूह में भी उपलब्ध है।

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -
Google search engine

Most Popular

Recent Comments